Home

6/recent

एससी एसटी एक्ट के समर्थन में भाजपा के दिग्गज नेता ने दिया इस्तीफा, मोदी सरकार में हड़कंप

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि एससी-एसटी को फिर से पुराने वाले रूप में लाने को लेकर सपना समाज ने 6 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया था. भारतीय जनता पार्टी के इस फैसले से सिर्फ सवर्ण समाज ही नहीं बल्कि उनके खुद के नेता भी नाराज हो गए हैं. एक तरफ जहां स्वर्ण समाज के लोगों के भारत बंद आंदोलन की वजह से सत्ताधारी सरकार की नींद हराम हो गई है वहीं दूसरी तरफ भाजपा के एक दिग्गज नेता ने सरकार की नीतियों से नाराज होकर इस्तीफा दे दिया है.
Third party image reference

कौन है यह नेता

मऊगंज के पूर्व विधायक एवं भाजपा के दिग्गज नेता लक्ष्मण तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी से नाराज होकर अपना इस्तीफा दे दिया है. इसकी जानकारी उन्होंने एक औपचारिक बैठक करते हुए पत्रकारों को दी. लक्ष्मण तिवारी भारतीय जनता पार्टी के के दिग्गज नेता है और उनकी राजनीति में बहुत ज्यादा पकड़ है. अब इस मामले में यह देखना दिलचस्प होगा कि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लक्ष्मण तिवारी को किस तरह मनाते हैं या फिर एससी एसटी एक्ट को सुप्रीम कोर्ट के प्रारूप में लाने की कोशिश करते हैं.
Third party image reference

देश में फैल रहा आंदोलन

सवर्ण समाज के लोगों के इस आंदोलन ने अब पूरे देश पर असर दिखाना शुरू कर दिया है. बिहार में कुछ जगह हिंसक घटनाएं भी देखने को मिली जबकि हरियाणा एवं पंजाब में शांतिपूर्वक प्रदर्शन देखने को मिला. सबसे ज्यादा तेज आंदोलन मध्यप्रदेश में नजर आया है जहां लोगों ने तरह-तरह के पोस्टर लगाकर भारतीय जनता पार्टी के फैसले का विरोध किया.
Third party image reference
इसके अलावा ब्राह्मण समाज के लोगों ने भी इस बात का फैसला किया है कि वह आने वाले चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को वोट ना देकर नोटा का इस्तेमाल करेंगे. इसके अलावा स्वामी देवकीनंदन महाराज ने कहा है कि वह सरकार को 2 महीने का समय देते हैं अगर उन्होंने अपने फैसले में सुधार नहीं किया तो उसके जिम्मेदार वह खुद होंगे.
Third party image reference

क्या आपके विचार से आरक्षण को खत्म कर देना चाहिए, अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ