Home

6/recent

गोंडा में डॉक्टरों की लापरवाही आयी सामने, मानवता हुई तार -तार

गोंडा जिला अस्पताल के हड्डी रोग के डॉक्टर और कर्मचारियों की संवेदनहीनता नजर आई है 60 वर्षीय वृद्ध जिसका पैर में रॉड पड़ा हुआ है मरीज को प्लास्टर बांधने के बाद 5:00 शाम बजे से मरीज और उनके परिजन को बाहर कर दिया गया प्लास्टर कर्मियों ने परिजनों से कहा कि अब आप लोग बाहर जाइए। जबकि परिजन अपनी 60 वर्षीय माता को लेकर जिला अस्पताल के गेट पर बैठने को मजबूर हैं और अपनी निजी गाड़ी का इंतजार कर रहे हैं लगभग 2 घंटे से बाहर बैठे मरीज और उनके परिजनों का हाल जानने वाला कोई नहीं है बिना स्टेचर न मिले ही परिजनों ने अपनी 60 वर्षीय माता को तीन लोग मिलकर गोदी में बाहर लेकर जमीन पर लेट आए हैं लगभग 2 घंटे से गाड़ी का इंतजार कर रहे हैं लेकिन अभी उनकी निजी गाड़ी नहीं आने के कारण बाहर बैठने को मजबूर हैं।