Home

6/recent

अचानक 30 गाड़ियों से हजारों प्रवासी मजदूर पहुंचे रायबरेली,मची अफ़रा तफ़री


रायबरेली फतेहपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर दोपहर में उस वक्त अफरा-तफरी मच गई जब 30 गाड़ियों पर सवार सैकड़ों मजदूर सड़क पर एकाएक उतर कर जनपद में जबरन घुसने का प्रयास करने लगे। मौके पर मौजूद गेगासो पुलिस चौकी भारी संख्या में भीड़ देखकर अचरज में पड़ गया और उसने कंट्रोल रूम और जिला प्रशासन को सूचना दी। जिसके बाद एसडीएम और सीओ सहित फोर्स मौके पर पहुंची और लोगों को समझा-बुझाकर उन्हें उनके गंतव्य की ओर रवाना किया गया।


रायबरेली फतेहपुर एनएच पर एकत्रित सैकड़ों की संख्या में यह मजदूर सरकार द्वारा लाक डाउन और सोशल डिस्टेंस के नियम की धज्जियां उड़ाते हुए महाराष्ट्र और गुजरात से चले हैं। कई प्रदेश और जिलों को पार करते हुए दोपहर में जब यह रेड जोन वाले जिले रायबरेली पहुंचे तो जिले की सीमा सील होने के चलते उनको बॉर्डर पर ही रोक लिया गया। चिलचिलाती धूप में उनका काफिला रोकने पर सभी मजदूरों ने हंगामा करना शुरू कर दिया और पुलिस पर दबाव बनाते हुए जनपद की सीमा को खोलने का दबाव बनाने लगे भारी संख्या में भीड़ को देखते हुए गेगासो पुलिस चौकी स्टाफ ने जिला प्रशासन और कंट्रोल रूम को स्थिति से अवगत कराया । जिसके बाद सीओ और एसडीएम मौके पर पहुंचे और उन्होंने सभी मजदूरों को शांत करवायाऔर समझा-बुझाकर गाड़ी में दोबारा बैठा कर उनके जनपद की ओर रवाना किया । महाराष्ट्र गुजरात से आने वाले यह मजदूर पूर्वांचल के जिलों के रहने वाले हैं, इन मजदूरों को रायबरेली पुलिस की सुरक्षा में जनपद की सीमा क्रास करवाई गयी। एसडीएम लालगंज जीत लाल सैनी की मानें तो यह सभी मजदूर महाराष्ट्र और गुजरात से आए हुए हैं जिसमें 25 गाड़ियां महाराष्ट्र की हैं और 5 गाड़ियां गुजरात की इन सभी का विवरण एकत्र करके उन्हें उनके जनपद की ओर रवाना कर दिया गया है।

रायबरेली फतेहपुर एनएच पर मौजूद यह मजदूर भरी दोपहर में रायबरेली पहुंचे हैं इन मजदूरों का कहना है कि इन्हें मऊरानीपुर में क्वॉरेंटाइन किया गया था लेकिन आज रात वहां के डीएम ने उन्हें जबरन गाड़ी में बैठा कर अपने अपने जनपद की ओर रवाना कर दिया।

रिपोर्ट-अमर प्रताप सिंह