Home

6/recent

पंचायत चुनाव में हिंसा फैलाने के आरोप में पूर्व सांसद पहुंचे जेल

 

बलरामपुर; उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण के लिए मतदान के दौरान हिंसा और आगजनी के मामले में पुलिस ने पूर्व सांसद रिजवान जहीर तथा यूथ कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दीपांकर सिंह को समर्थकों समेत गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस सूत्रों नें मंगलवार को बताया कि तुलसीपुर थाना क्षेत्र के बेलीखुर्द गांव में सोमवार देर रात मतदान के बाद पूर्व सांसद रिजवान जहीर और दीपांकर सिंह के समर्थकों के बीच संघर्ष हो गया था जिसके बाद दीपांकर सिंह की दो लग्जरी गाड़ियां फूंक दी गईं और दो वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। पूर्व सांसद रिजवान जहीर की पत्नी एवं पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हुमा रिजवान जिला पंचायत क्षेत्र नवानगर से बसपा समर्थित उम्मीदवार थीं। इसी क्षेत्र से दीपांकर सिंह की पत्नी अरुणिमा सिंह कांग्रेस के समर्थन से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ी हैं।

सोमवार को दिनभर शांतिपूर्ण मतदान के बाद देर शाम बेलीखुर्द गांव में पूर्व सांसद रिजवान जहीर के दामाद रमीज अहमद, दीपांकर सिंह तथा उनके समर्थकों का आमना-सामना हो गया। दोनों पक्षों में विवाद शुरू हो गया और देखते ही देखते मारपीट शुरू हो गई। मारपीट की इस घटना में दोनों पक्षों से आधा दर्जन लोग घायल हो गए, जिसमें रिजवान जहीर के दामाद रमीज अहमद को भी चोटें आई हैं ।

इस बीच रिजवान जहीर के समर्थकों की बढ़ती संख्या देखते हुए दीपांकर सिंह और उनके समर्थक अपने वाहन छोड़कर मौके से भाग गए। घटना की जानकारी मिलते ही पूर्व सांसद अपने समर्थकों के साथ पहुंचे। आरोप है कि रिजवान के समर्थकों ने दीपांकर सिंह के वाहनों में आग लगा दी और उन्हें क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस के अनुसार, मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों के साथ भी अभद्रता की गई। घटना की सूचना मिलते ही डीएम श्रुति और एसपी हेमंत कुटियाल मौके पर पहुंचे। घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पीएसी और पुलिस बल तैनात कर दिया गया हैं ।

देवीपाटन रेंज के आईजी डॉक्टर राकेश सिंह ने बताया कि उन्होंने बताया कि इस मामले में अभियोग पंजीकृत कर पूर्व सांसद रिजवान जहीर और दीपांकर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि घटना की जांच कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी ।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ