Home

6/recent

अम्बेडकर जयंती के मौक़े पर योगी ने भीमराव अम्बेडकर को दी श्रद्धांजलि


योगी ने दी अंबेडकर को श्रद्धांजलि


ग़रीबों के मसीबा हे बाबा साहेब -योगी 


लखनऊ;उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज बाबा साहब डाॅ0 भीमराव आंबेडकर की जयन्ती के अवसर पर यहां आंबेडकर महासभा परिसर में आयोजित कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से सम्मिलित होकर उन्हें अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

मुख्यमंत्री ने बाबा साहब को संविधान का शिल्पी बताया और कहा कि वो भारत माता के एक महान सपूत थे, जिन्होंने भारत के संविधान के मूलभूत तत्व-समता, न्याय, बन्धुता को भारत के प्रत्येक नागरिक को सर्वसुलभ कराया, जिससे भारतीय नागरिकों को परस्पर भेदभाव रहित लोकतांत्रिक जीवन मिल सके।

इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में लगभग 07 वर्ष से केन्द्र सरकार और प्रदेश सरकार 04 वर्ष से निरन्तर कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा साहब ने आजादी की लड़ाई के समय ही यह महसूस किया था कि देश के प्रत्येक नागरिक को मूलभूत सुविधाएं मिले, जिसके लिए प्रदेश सरकार बाबा साहब के सपनों को साकार करने का अभियान चला रही है। प्रदेश सरकार बिना भेदभाव के सभी वर्गाें के लिए कार्य कर रही है। राज्य सरकार द्वारा सभी को स्वास्थ्य, शिक्षा, राशन, आवास, गैस, शौचालय, विद्युत आदि सुविधाओं का लाभ दिया जा रहा है। भारत सरकार के सहयोग से प्रदेश सरकार द्वारा बिना भेदभाव के अब तक 04 करोड़ लोगों को आवास की सुविधा, 2.61 करोड़ शौचालयों का निर्माण, 1.57 करोड़ निःशुल्क गैस कनेक्शन, 1.38 करोड़ विद्युत कनेक्शन, 14 करोड़ लोगों को राशन की सुविधा, 06 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य बीमा का लाभ दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा साहब ने शिक्षा पर विशेष ध्यान देने की बात कही। उन्होंने भारत के वंचितों, गरीबों, दलितों से अपनी पीढ़ी को शिक्षा से वंचित नहीं करने का आग्रह किया था। डाॅ0 आंबेडकर का कहना था कि दलित, गरीब और वंचित अपने बच्चों को स्कूल जरूर भेजें, जिससे उनको अच्छी शिक्षा मिल सके। बाबा साहब के इस सपने को साकार करने के लिए प्रदेश सरकार लगातार प्रयासरत है। प्रदेश के 18 मण्डलों में अटल आवासीय विद्यालय का निर्माण किया जा रहा है। इसमें गरीब, मजदूर, वंचित एवं दलितों के बच्चों के लिए आधुनिक शिक्षा की आवासीय व्यवस्था मिलेगी। प्रदेश में सामूहिक विवाह के कार्यक्रम भी व्यापक तौर पर बिना भेदभाव के सम्पन्न हो रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों, वंचितों, दलितों को समाज में न्याय दिलाने के लिए अभी भी एक लम्बी लड़ाई आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। इसके लिए व्यापक जागरूकता की भी आवश्यकता है। इस दिशा में प्रदेश सरकार संकल्पित होकर कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आंबेडकर महासभा ने सदैव बाबा साहब की जयन्ती एवं पुण्यतिथि के अवसर पर उनके सपनों व स्मृतियों को जीवन्त रखा है। साथ ही, उनके मूल्यों, आदर्शाें व सिद्धान्तों का प्रचार-प्रसार भी कर रही है। वर्तमान में पूरी दुनिया कोरोना महामारी से त्रस्त है। कोरोना महामारी के कारण संक्रमण की तीव्रता को ध्यान में रखकर आंबेडकर महासभा ने आज का यह कार्यक्रम वर्चुअल माध्यम से आयोजित किया है।

इसके लिए आंबेडकर महासभा को धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि श्रद्धांजलि कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग अपनाकर कोविड गाइडलाइन का पालन भी किया गया।

इस अवसर पर समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, भारतरत्न बोधिसत्व बाबा साहब डाॅ0 भीमराव आंबेडकर महासभा के अध्यक्ष लालजी प्रसाद निर्मल एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ