Home

6/recent

अराजक तत्वों ने तीन सौ वर्ष प्राचीन शिवलिंग को रातो -रात मंदिर से किया ग़ायब


रातों रात मंदिर से शिवलिंग हुआ चोरी
 
चुनावी रंजिश  मामला आया सामने 

कौशाम्बी;
चायल तहसील के चरवा थाना क्षेत्र के बालीपुर टाटा गांव में लगभग तीन सौ वर्ष पुराने प्राचीन मंदिर में स्थापित शिवलिंग की मूर्ति रातो रात गायब कर दिया ग्रामीणों ने बताया कि भगवान शंकर के इस मंदिर में बहुत सुन्दर धातु के बनी शिवलिंग थी इसमें हमारे ग्राम सभा व क्षेत्र के लोगों की बड़ी आस्था जुड़ी थी जो भी इस मंदिर में आया था कभी निराश होकर नहीं लौटा।

कौशाम्बी के चरवा थाना के बलीपुर टाटा के मंदिर के पुजारी ने जब सुबह मंदिर में पूजा करने के लिए गए तो पुजारी ने देखा की मंदिर के अंदर से शिवलिंग गायब है शिवलिंग की प्रतिमा ना देख कर पुजारी दुर्गा प्रसाद के होस उड गए ततपश्चात पुजारी ने शोर शराबा किया तो ग्रामीण इकट्ठा हुए तभी ग्रामीणों ने इसकी सूचना चरवा थाना और क्षेत्राधिकारी चायल को दिया क्षेत्राधिकारी चायल  फोर्स के साथ बालीपुर टाटा गांव पहुंचे और उन्होंने शिवलिंग की प्रतिमा की छानबीन करना शुरू कर दिया और ग्रामीणों को उन्होंने आश्वासन दिया कि हम दो-तीन दिन में शिवलिंग की प्रतिमा खोज कर मंदिर में स्थापित करवा देंगे और ऐसे जघन्य अपराध करने वालों के साथ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी वहीं पर ग्रामीणों का यह भी कहना है कि कुछ अराजकत्तवों की आस्था इन दिनों मंदिर में शिवलिंग की प्रतिमा से ज्यादा ग्राम पंचायत के चुनाव में लगी हुई है वहीं पंचायत चुनाव का माहौल चल रहा है मूर्ति गायब करने के पीछे पंचायत चुनाव की साजिश की बू आ रही है मंदिर से शिवलिंग चोरी करने के बाद पंचायत चुनाव में जाति धर्म का वास्ता दे कर चुनाव जीतने का प्रयास किए जाने की संभावना ग्रामीण ब्यक्त कर रहे है बताते चलें कि इस प्राचीन मंदिर में स्थापित शिवलिंग का वजन काफी था एक व्यक्ति शिवलिंग को चोरी करके नहीं ले जा सकता इस शिवलिंग को चोरी किए जाने के पीछे कई लोगों की साजिश बताई जाती है यदि पुलिस ने शिवलिंग चोरी किए जाने के मामले के खुलासे की जांच की दिशा में यदि पंचायत चुनाव के ऊपर नजर लगाई तो अराजक तत्वों पर कार्रवाई हो सकती है और शिवलिंग चोरी करने वालों के चेहरे सामने होंगे।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ