Home

6/recent

खेल के बाद भी दिखा देशभक्ति का जज़्बा, कहा- यह जीत पुलवामा के शहीदों को समर्पित


कुमैल रिज़वी/राम मिश्रा, अमेठी: हाशमी क्रिकेट क्लब मुसाफिरखाना द्वारा आयोजित क्रिकेट टूर्नामेंट का शनिवार को समापन हुआ जिसमें 32 टीमों ने भाग लिया। फाइनल मैच भनौली क्रिकेट क्लब और तिरंगा क्रिकेट क्लब के बीच खेला गया, जिसमें तिरंगा क्रिकेट क्लब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 12 ओवरों में 88 रन बनाए। जबकि भनौली क्रिकेट क्लब ने 10वें ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया। भनौली क्रिकेट क्लब के कैप्टन इब्राहीम ने इस जीत को पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के नाम समर्पित किया।



पुलवामा के शहीदों को किया याद-
मैच खत्म होने के बाद दोनों टीमों के खिलाड़ी और मैदान पर मौजूद दर्शकों ने पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के लिए दो मिनट मौन रखा। यही नहीं, सबने एक स्वर में हिंदुस्तान जिंदाबाद-पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये। मैच के बाद लोगों ने तिरंगा यात्रा निकाल कर पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी। वहीं फाइनल भिड़ंत में मैन ऑफ द सीरीज हसनैन और मैन ऑफ द मैच दानिश रहे।


मुख्य अतिथि ने कहा-
फाइनल मैच के मुख्य अतिथि कॉग्रेसी नेता हाजी मो नईम थे। उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजन होने से लोगों में एकता और अनुशासन का विकास होता है। उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी होगी कि उनके क्षेत्र से कोई राष्ट्र स्तर का खिलाड़ी बनकर निकले। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित युवा पत्रकार कुमैल रिज़वी ने कहा कि "खिलाड़ी जज्बा और जुनून बनाए रखें। खिलाड़ियों को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी एक से बढ़ कर एक खिलाड़ी हैं सिर्फ उनको उचित मंच की जरूरत है। इस तरह के आयोजन होने से खिलाड़ियों मे स्वस्थ तन और स्वस्थ मन का विकास भी होता है।" वहीं कमेंटेटर की भूमिका सौरभ तिवारी 'ओमू' निभा रहे थे।



इस मौके पर इस मैच के आयोजक मो. शहबाज हाशमी, मो. तालिब हाशमी और व्यवस्थापक नौशाद हाशमी, फारुख और नशुरुद्दीन मिथुन हाशमी उर्फ़ शर्मा, कैफ हाशमी, दानिश हाशमी, आरिफ हाशमी सहित सैकड़ों दर्शक उपस्थित रहे।