Home

6/recent

अंबेडकरनगर पुलिस ने आखिरकार एक और फर्ज़ी अनामिका शुक्ला को किया गिरफ़्तार

उत्तर प्रदेश में कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के अनामिका शुक्ला प्रकरण की जांच स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को सौंप दी गई है। अब एसटीएफ पूरे प्रदेश में इस मामले की जांच करेगी। यह जानकारी बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने दी है। उन्होंने कहा कि इससे जुड़े हर पहलू की बारीकी से जांच की जाएगी।


अभी तक गोण्डा में असली अनामिका शुक्ला के सामने आने के बाद स्थानीय पुलिस एसटीएफ की मदद ले रही थी लेकिन लिखित तौर पर जांच एसटीएफ को गुरुवार को सौंपी गई। इस मामले में कासगंज से फर्जी शिक्षिका और उसके बयान के बाद मास्टर माइंड को पकड़ा जा चुका है।  अभी तक बाकी जगहों पर बेसिक शिक्षा अधिकारी जांच करवा रहे हैं तो फर्जी शिक्षिकाओं के फोन बंद आ रहे हैं और ज्यादातर के पते भी गलत निकले हैं। हालांकि एफआईआर हो चुकी है।


 पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी के निर्देशन में थाना अलापुर पुलिस टीम द्वारा फर्जी शिक्षिका अनामिका शुक्ला कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय आलापुर अंबेडकरनगर में जो की तैनात थी उनको सर्विलांस के माध्यम से ट्रेस किया गया तो अनामिका शुक्ला के नाम पर कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय रामनगर अंबेडकर नगर में अनीता देवी लक्ष्मण पुर निवासी पोस्ट 10 मई थाना बेवर जनपद मैनपुरी उत्तर प्रदेश द्वारा फर्जी प्रमाण पत्र लगाकर नौकरी करना पाया गया जिसमें थाना आलापुर पुलिस द्वारा अभियुक्त अनीता देवी उनके घर से गिरफ्तार किया गया है।


पूछताछ में फर्जी शिक्षिका द्वारा बताया गया कि पुष्पेंद्र नाम के व्यक्ति ने उसे लालच दिया उसके झांसे में वह आ गई फर्जी प्रमाण पत्र के सहारे जनपद अंबेडकरनगर में नौकरी लगी सभी फर्जी दस्तावेजों नियुक्ति के समय लगे थे वह पुष्पेंद्र द्वारा बनवाया गया था बता दे अनीता देवी मैनपुरी उत्तर प्रदेश की रहने वाली है।