Home

6/recent

अमेठी में गोली मारकर अधेड़ की हत्या, मचा हड़कंप


अमेठी : जिले में हत्याकांड की सनसनीखेज वारदात सामने आई है. जहां मामूली विवाद के बाद धारदार हथियार और असलहों से लैस गिरोहबंद होकर आए करीब आधा दर्जन दबंगों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया और गोलियां चला दी. गोली लगने से 45 वर्षीय अधेड़ की मौत हो गई जबकि उसके भाई गंभीर रूप से घायल हो गए. घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए. दिनदहाड़े हुई हत्याकांड की सूचना मिलते ही प्रसाशनिक अमले में हड़कंप गया और मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया जहां सभी का इलाज चल रहा है. वही गांव में तनाव को देखते हुए मौके पर बड़ी बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है और पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं. 

मिली जानकारी के मुताबिक मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र के नारा अढ़नपुर गांव का है जहां रविवार दोपहर करीब 3 बजे गांव के ही 45 वर्षीय सुरेंद्र सुरेंद्र पांडेय पुत्र रामेश्वर पाण्डेय अपने घर के बाहर बैठे हुए थे. इसी बीच गांव का ही एक व्यक्ति उनके घर के सामने से मोटरसाइकिल लेकर और मना करने पर दोनों के बीच कहा सुनी हो गई. आरोप है कि विपक्षी गिरोहबंद होकर धारदार हथियार और अवैध असलहों से लैस होकर सुरेंद्र पांडेय के घर पहुंचे और हमला कर गोलियां चला दी. गोली लगने से सुरेंद्र पांडेय की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उनके छोटे भाई गंभीर रूप से घायल हो गए. घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए. हत्याकांड की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस दोनों को लेकर स्थानीय अस्पताल पहुँची. जहां डॉक्टरों ने एक को मृत घोषित कर दिया और दूसरे का इलाज जारी है. वहीं घटना की गंभीरता को देखते हुए गांव में बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया और खुद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं. वहीं मृतक के भतीजे की माने तो उसके चाचा ट्यूबेल से जुड़ा कुछ सामान लेकर घर के बाहर सही कर रहे रहे थे. इसी बीच विपक्षी का लड़का वहां से गुजरा तो उसके चाचा ने मना किया और इसकी शिकायत जाकर उसके घरवालों से कर दी. शिकायत के बाद विपक्षी बड़ी संख्या में इकट्ठा होकर आए और उनपर हमला कर दिया. इस दौरान फायरिंग भी हुई, जिसमें गोली लगने से उसके चाचा की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 4 लोग गंभीर रूप से घायल हैं. 
वहीं अस्पताल में मौजूद डॉक्टर के के वर्मा ने कहा कि पुलिस दो लोगों को लेकर आई थी. जिसमें से एक व्यक्ति को दो गोलियां लगी थी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी. जबकि उनके भाई के सिर में गंभीर चोट है जिनका इलाज चल रहा है.           
वहीं मौके पर पहुँचे अमेठी एसपी ने कहा कि करीब दोपहर तीन बजे कि ये घटना है. गांव के रघुनंदन के लड़के तेजी से गाड़ी चला रहे थे. जिसे सुरेंद्र पांडेय ने रोका जिसके बाद ये विवाद हुआ और गोली लगने से सुरेंद्र पांडेय की मौत हो गई. अभी तक चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. तहरीर के आधार पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी.


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ