Home

6/recent

1857 में क्रांति का बिगुल फूंकने वाले भदोही जिले के शहीद झूरी सिंह का परिवार किया गया पाबंद


भदोही पुलिस का एक और कारनामा आया सामने 


  सदमे में है शहीद का परिवार 


भदोही;उत्तर प्रदेश में भदोही जिले की पुलिस का एक ऐसा कारनामा सामने आया है जिससे 1857 में क्रांति का बिगुल फूंकने वाले भदोही जिले के शहीद झूरी सिंह का परिवार सदमे मे हैं।त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर कानून व्यवस्था के नाम पर शहीद झूरी सिंह के प्रपौत्र रामेश्वर सिंह को भदोही जिले के सुरियावां थाने की पुलिस ने पाबंद कर दिया है। पुलिस के इस कारनामे से शहीद के परिजनों में भारी आक्रोश है। नाराजगी जताते हुए इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक से की गई है। शहीद झूरी सिंह के प्रपौत्र को पाबंद करने वाली पुलिस अब मामले के जांच-पड़ताल में जुट गई है।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भदोही जिले के सुरियावां थाने की पुलिस ने परऊपुर निवासी रामेश्वर सिंह को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर 107/16 की कार्रवाई करते हुए पाबंद किया गया है। झांसी की रानी लक्ष्मी बाई, बलिया से मंडल पाण्डेय और भदोही के झूरी सिंह ने क्रांति का बिगुल फूंका था। और रामेशवर सिंह शहीद झूरी सिंह के प्रपौत्र हैं। रामेश्वर सिंह को अब तक सैंकड़ों से अधिक सम्मान पत्रों से सम्मानित किया जा चुका है। इनके परिवार का कोई भी सदस्य अभी तक कोई भी चुनाव नहीं लड़ा है और न ही किसी प्रत्याशी या फिर दल का समर्थन किया है। लेकिन फिर भी भदोही जिले की सुरियावां पुलिस ने शहीद झूरी सिंह के प्रपौत्र रामेश्वर सिंह को 107/16 के तहत पाबंद किया है।

पुलिस के इस कारनामे को लेकर लोगों में नाराजगी देखी जा रही है। रामेश्वर सिंह ने इस सम्बन्ध में भदोही पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने शिकायत की है ।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ