Home

6/recent

कोविड-19 की गाइडलाइंस का उल्लंघन करने में लगे पंचायती चुनावी प्रत्याशी

 

 एक तरफ जहां प्रदेश में कोरोना संक्रमण का दायरा लगातार बढ़ रहा है वहीं दूसरी तरफ खुलेआम राजनेता कोविड-19 की गाइडलाइंस का उल्लंघन करने में लगे हुए हैं।



हमीरपुर ;पंचायत चुनाव को लेकर प्रत्याशी बिना मास्क के गांव-गांव घूमकर सैकड़ों की तादात में ग्रामीणों के बीच शामिल होकर बिना मास्क के एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करते हुए राजनेता अपनी भारी जन सैलाब के साथ कोरोना को खुली चुनौती दे रहे हैं। ऐसा ही जनपद हमीरपुर के सरीला क्षेत्र के ग्राम मंगरोठ में रामसजीवन यादव का भव्य तुलादान आयोजित किया गया जिसकी लगातार वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। जिसमें साफ-साफ देखा जा सकता है कि सैकड़ों ग्रामीणों के बीच भव्य तुलादान कार्यक्रम करते हुए बिना मास्क के एवं कोविड-19 की गाइडलाइंस का पालन नहीं किया जा रहा है। लेकिन यह भी कहना अतिशयोक्ति न होगी कि चुनावी यात्रा में शामिल लोगों की भीड़ में से कोरोना भाग जाता है ऐसा राजनेताओं का कहना है लेकिन अस्पताल प्राइवेट या सरकारी ऑफिस दफ्तर दुकान स्कूल कॉलेज या धार्मिक स्थानों पर कोरोना का डर ज्यादा रहता है लेकिन बिना मास्क के प्रत्याशी ग्रामीणों के यहां मिलते हैं एवं घूमते हैं और सैकड़ों की संख्या में लोगों को इकट्ठा करके वोट मांगते जहां पर कोरोना का कोई डर नहीं लेकिन यह चिंता का विषय भी है कि यदि किसी भी व्यक्ति को कोरोना होता है तो जुम्मेदारी किसकी होगी। क्योंकि सारे के सारे प्रत्याशी बिना मास्क के खुली चुनौती देते हुए सरकार की गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाने में लगे हुए हैं और सबसे बड़ी बात ग्राम पंचायत मुखिया बनने की होड़ में जो कि ग्रामीणों की जान को खतरे में डालने में लगे हुए हैं जबकि मुखिया को तो हर व्यक्ति से लेकर पूरे गांव की जनता की चिंता होनी चाहिए साथ ही कोविड-19 की गाइडलाइंस का भी पालन करने के लिए प्रेरित करना चाहिए। जबकि पूरे क्षेत्र में ठीक इसके विपरीत हो रहा है।


                                                                                                                       रिपोर्ट - अमित नामदेव


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ