Home

6/recent

परीक्षा फल के अंक में ऐसे करें सुधार

आजमगढ़ जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ0 वीके शर्मा ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0 प्रयागराज द्वारा वर्ष 2021 के घोषित परीक्षाफल में अंक सुधार हेतु इच्छुक परीक्षार्थियों की परीक्षा के आयोजन के सम्बन्ध में बोर्ड परीक्षा आयोजित किये जाने का निर्देश दिया गया है।जिला विद्यालय निरीक्षक ने समस्त प्रधानाचार्य/प्रधानाचार्या को सूचित किया है कि माध्यमिक शिक्षा परिषद, उ0प्र0 द्वारा हाईस्कूल व इण्टरमीडिएट परीक्षा वर्ष 2021 का परीक्षाफल दिनांक 31 जुलाई 2021 को बोर्ड की वेबसाइट www.upmsp.edu.in एवं www.upresults.nic.in पर प्रकाशित किया जा चुका है। घोषित परीक्षाफल 2021 में सम्मिलित समस्त इच्छुक परीक्षार्थी (जिसमें विदहेल्ड श्रेणी, सामान्य, बिना अंक के प्रोन्नत, अनुपस्थित श्रेणी व कम अंक प्राप्त करने वाले आदि सभी श्रेणी के परीक्षार्थी सम्मिलित है) उक्त परीक्षाफल में प्राप्त अंक या परिणाम में सुधार हेतु एक या एक से अधिक विषयों में अंक के सुधार हेतु बोर्ड द्वारा आयोजित आगामी परीक्षा में सम्मिलित होना चाहते हैं, वह परिषद की वेबसाइट www.upmsp.edu.in पर उपलब्ध आवेदन पत्र के प्रारूप को डाउनलोड करके अथवा अपने विद्यालय से प्राप्त करके उसे भरकर दिनांक 17 अगस्त 2021 से 27 अगस्त 2021 तक अपने विद्यालय के प्रधानाचार्य को उपलब्ध करा दें। इस परीक्षा हेतु परीक्षार्थियों से परीक्षा शुल्क नहीं लिया जायेगा। वर्ष 2021 की इण्टरमीडिएट की प्रयोगात्मक परीक्षा में अनुपस्थित रहने वाले परीक्षार्थी यदि चाहें तो वह भी आगामी प्रयोगात्मक परीक्षा में पुनः सम्मिलित हो सकते है। परीक्षार्थियों से प्राप्त भरे हुये आवेदन पत्रों को विद्यालय के प्रधानाचार्य परिषद की वेबसाइट पर विद्यालय लॉगिन के माध्यम से प्रतिदिन अपलोड करेंगे। अपलोड करने की अंतिम तिथि 29 अगस्त 2021 के रात 12.00 बजे तक होगी। नियत तिथि के बाद कोई आवेदन पत्र अपलोड नही होगा। 



यदि किसी परीक्षार्थी का निर्धारित अवधि में जमा किया गया आवेदन पत्र अपलोड नही हो पाता है, तो उसके लिये सम्बन्धित विद्यालय के प्रधानाचार्य उत्तरदायी होगें। जिला विद्यालय निरीक्षक ने समस्त प्रधानाचार्य/प्रधानाचार्या को निर्देशित किया है कि उक्त के सम्बन्ध में दिनांक 26 अगस्त 2021 को अपरान्ह 01.00 बजे शिब्ली नेशनल इण्टर कालेज आजमगढ़ में एक आवश्यक बैठक आहूत की गयी है। आहूत बैठक में प्रधानाचार्य प्रतिभाग करना सुनिश्चित करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ