Home

6/recent

होली रंगों के साथ साथ खाने पिने का भी है त्योहार आइये जानते है होली में अलग शहर में अलग पकवान

होली सिर्फ रंगों का ही नहीं खाने-पीने का भी त्योहार है. इस दिन होली खेलने के साथ-साथ लजीज़ पकवान भी बनाए जाते हैं. बाज़ार ही नहीं बल्कि घरों में भी इन स्वादिष्ट खानों से प्लेट भर जाती हैं. कहीं गुजिया, पापड़, चिप्स तो कहीं भांग, इन दोनों के अलावा तमाम तरह के भोजन होली के दिन बनाए जाते हैं. क्योंकि होली  हो या दिवाली हर शहर के खाने की अपनी एक पहचान है. यहां देखिए कि किस राज्य में होली के दिन बनता है कौन-सा पकवान.

वैसे तो होली के मौके पर हर शहर के मंदिरों और चौराहों पर ठंडाई मिल जाएगी, लेकिन कानपुर और वाराणसी की ठंडाई की बात ही अलग है.








यूपी और बिहार के दिन कई घरों में खास आलू की कचौड़ी बनाई जाती है. इसे होली पर लोग धनिया और मिर्च की चटनी के साथ मज़े से खाते हैं.




शहरों में खासकर दिल्ली में होली वाले दिन दही भल्ले घरों में जरूर बनते हैं. इन्हें लोग गुड़ की चटनी के साथ बड़े मज़े से खाते हैं.



खासकर उत्तराखंड में कई जगहों पर चटपटे आलू के गुटके जरूर बनाते हैं. मिनटों में बनने वाली इस डिश को लोग बड़े चाव से खाते हैं.



झारखंड का मशहूर धुस्का होली पर खूब बनता है. चावल का आटा, चना दाल और आलू से बनने वाले धुस्का को लोग मज़े से खाते हैं. 



गजिया के बिना होली अधूरी है. इस कई जगह गुझिया भी कहा जाता है. भारत का कोई भी राज्य हो या शहर, हर जगह गुजिया खाई और बनाई जाती है. होली की ये गुजिया इतनी पॉपुलर हैं कि बाज़ारों में इसकी कई तरह की वेराइटी आ गई हैं. पहले सिर्फ खोया और सूजी की गुजिया मिलती थी, लेकिन अब चॉकलेट से लेकर जैम तक की गुजिया मिलने लगी है.



महाराष्ट्र की सबसे मशहूर डिश है पूरन पोली, इसे होली के दिन भी बड़े चाव से खाया जाता है.