Home

6/recent

भाजपा जिलाध्यक्ष के परिवार में दलितों पर ढाया कहर, मचा बवाल

यूपी में दलितों पर हो रहे उत्पीड़न को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अख्तियार कर साफ संकेत दिया कि दलितों पर उत्पीड़न करने वाले लोगों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा उनके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसी कार्रवाई में 10 जून को आजमगढ़ के महराजगंज थाना के सिकंदरपुर आईमा में दलितों के उत्पीड़न पर पुलिस ने गंभीर रुख अख्तियार कर दो दर्जन लोगों पर कार्रवाई में SC/ST एक्ट के साथ गैंगस्टर में गिरफ्तार कर जेल भेजा और इन पर NSA की भी कार्यवाही को बताया। जिले में जहां समीक्षा करने एडीजी वाराणसी बृजभूषण पहुचे। एडीजी आजमगढ़ में दलित उत्पीड़न की समीक्षा कर रहे थे उसी दौरान जिले के गंभीरपुर थाना क्षेत्र के उबारपुर गांव में भाजपा लालगंज जिलाध्यक्ष ऋषि कांत राय के इशारे पर उनके पुत्र सत्यम व शिवम सहित भाई और भतीजे द्वारा मनरेगा में काम कर रहे दलित को गाली देने व मारने-पीटने का आरोप लगा, ग्रामीणों द्वारा आक्रोशित चक्काजाम को पुलिस आश्वासन के बाद समाप्त कर आरोपियों पर मुकदमा दर्ज किया गया।


जनपद आजमगढ़ के गंभीरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम उबारपुर में मनरेगा मजदूरों की पिटाई से आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर गोसाईं बाजार के समीप मुख्य मार्ग पर चक्का जाम कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस के आश्वासन पर कुछ देर बाद जाम समाप्त हुआ। बताया गया उबारपुर गांव में मनरेगा मजदूर नहर की सफाई कर रहे थे। आरोप है कि लालगंज भाजपा जिलाध्यक्ष के इशारे पर उनके परिजनों ने मनरेगा मजदूरों की पिटाई की। पिटाई से दो मजदूर वेद प्रकाश (35) व रविंद्र कुमार (24) घायल हो गये। परिजनों का आरोप है कि उन्हें ट्यूबवेल पर ले जाकर पीटा और जातिसूचक शब्दों के साथ गाली गलौज किया।


मामला सत्तारूढ़ दल के जिलाध्यक्ष से जुड़ा हुआ था इसलिए पुलिस ने मामले को दबाने की पूरी कोशिश की, लेकिन पीड़ित दलित सड़क पर आकर उन्होंने जाम लगा दिया मजबूरी में पुलिस को गंभीरपुर थाने में मुकदमा दर्ज करना पड़ा। मामले में घायल रविन्द्र कुमार की तहरीर पर लालगंज के भाजपा जिलाध्यक्ष के पुत्र, भाई, भतीजा समेत पांच लोगों के खिलाफ एसटी/एससी एक्ट व 147, 323, 504, 506 की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। लेकिन इस मामले में सत्ता की हनक जरूर देखने को मिली, मामले में ना गैंगस्टर की कार्रवाई की गई और न ही एनएसए की बात कही गई, अभी पुलिस जांच की बात कर रही है।