Home

6/recent

पूर्वांचल के माफ़ियाओं पर कहर बनकर टूटा प्रशासन


 आजमगढ़: योगी सरकार के निर्देश पर अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में माफिया कुन्टू सिंह द्वारा जीयनपुर में बिना नक्शा पास कराए बनाए गए 3 मंजिला मकान पर प्रशासन ने बुलडोजर चला कर ध्वस्त कर दिया। 
आजमगढ़ जनपद के सगड़ी विधानसभा के पूर्व विधायक हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी कुन्टू सिंह के खिलाफ अवैध निर्माण के मामले में कार्रवाई करते हुए आजमगढ़ प्रशासन ने अवैध निर्माण को ध्वस्त करा दिया।
बता दें कि बिना नक्शा पास कराए माफिया कुन्टू सिंह ने 3 मंजिला मकान का निर्माण करवा लिया था। मौके पर जिलाधिकारी राजेश कुमार और पुलिस अधीक्षक मय फोर्स मौके पर मौजूद रहें। जिले में सगड़ी तहसील के जीयनपुर कोतवाली के छपरा सुल्तानपुर निवासी ध्रुव कुमार सिंह कुट्टू पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू की हत्या के मामले में जेल में बंद है। पिछले दिनों कुन्टू सिंह द्वारा अर्जित की गई 8 करोड़ से अधिक की संपत्ति को प्रशासन ने जब्त किया था। 5 नवंबर को नगर पंचायत शासन ने नोटिस जारी करते हुए दोनों मकानों पर उसे गिराने के लिए नोटिस चस्पा कर दिया था। नोटिस में कहा गया है कि 15 दिनों में मकान को स्वयं ध्वस्त कर लें अथवा नगर पंचायत उसके बाद ध्वस्व कर देगा। जिन दोनों मकानों पर ध्वस्तीकरण का नोटिस चस्पा किया था। उसकी कीमत 6 करोड़, 46 लाख, 99 हजार, 402 रूपये आंकी गई है। जिलाधिकारी राजेश कुमार ने 3 नवंबर को नगर पंचायत जीयनपुर को मकान के निर्माण की वैधता जांचने के निर्देश दिए थे। मऊ निवासी अजीत सिंह की हत्या के तार आज़मगढ़ के कुंटू सिंह के जुड़ने के चलते आज जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक की मौजूदगी में भारी फोर्स के साथ जीयनपुर बाजार में कुण्टू सिंह के कांप्लेक्स पर बुलडोजर चला। कारण बताया गया कि मकान पास नक्शे के अनुसार नहीं बना था इसलिए इसको गिरवा दिया गया। कोई बवाल न हो इसके लिए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है।

लखनऊ में बुधवार की रात मारे गये मऊ निवासी अजीत सिंह की हत्या के तार आजमगढ़ से जुड़ रहे। मृतक अजीत सिंह सगड़ी के पूर्व विधायक रहे सीपू सिंह की हत्या में अहम गवाह था। उस हाईप्रोफाइल केस में चार दिन बाद ही गवाही होनी थी। फिलहाल उस मुकदमें में पूर्व विधायक के भाई टीपू सिंह की गवाही चल रही है। पूर्व विधायक हत्याकांड में नियमित सुनवाई होने के कारण केस अपनी मंजिल की ओर बढ़ रहा था। ऐसे में मर्डर के बाद आजमगढ़ की पुलिस भी पूरे मामले में पैनी नजर रख रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ